विलक्षण शाबरी वशीकरण मंत्र

 विलक्षण शाबरी वशीकरण मंत्र 


मंत्र :-   साबरी वशीकरण 

 ॐ मोहिनी माता भुत पिता भुत सीर वेताल उड़ ऐ  काली नागिन ( ............) की लग जाये । ऐसी जा के  लगे 
की (...................................)अमुक को लग जाये हमारी मुहब्बत की आग । न खड़े सुख न लेटे  सुख न  सोते सुख , सिन्दूर चढाऊ मंगलवार कभी न छोड़े हमारा ख्याल । जब तक न देखे हमारा मुख । काया तड़प तड़प मर जाये।। चलो मंत्र फुरो वाचा , दिखाओ रे  शब्द अपने गुरु के इलम  का तमाशा ...!

16 comments:

  1. Guruji, Sabri vashikaran mantra ki vidhi btane ki kripa kare, pahle ......... place mai kya aayega,
    kripya holi ke liye koi siddh vashikaran mantra de, mai kisi ke liye galat istemal ke liye nahi mang raha, ye aapko vachan de raha hu......

    ReplyDelete
    Replies
    1. bina guru se deisksha liye bagair koi mantra sidha nahi hoga mitr...!

      Delete
    2. दीक्षा कैसे ली जाय ! कृपया यह बतलाने का कष्ट करेंगे!

      Delete
    3. दीक्षा लेने के लिए आपको गुरु बनाना पड़ेगा.आप किस विद्या की साधना करना चाहते है पूरी जानकारी के साथ मुझे मेल करे.navnipathak@gmail.com

      Delete
  2. Replies
    1. bina guru ke margdarshan ke mantra siddh nahi kar paoge..uske liye gueu se diksha leni padegi

      Delete
  3. aapki baat bilkul sahi hai, lekin jise koi yogya guru n mila ho,jo kewal satya or sahi ke liye he koi kaam karna chahta hai, n ki kisi ke nuksaan ke liye or jisne apne ishwar ko he apna guru, mata pita maan liya ho, jo chote chote kaam ke liye bhi apne ishwar ke upar vishwash rakhkar karya karta ho... kya use ko siddhi vishesh karne ka adhikaar nhi hai? mana guru ishwar hai, to wo ishwar bhi to guru he hai, jo sabka palan karta hai, us ishwar mai atut vishwash rakhne ka koi arth nahi hai?

    ReplyDelete
  4. धर्मेन्द्र जी आपकी बात से मै सहमत हूँ ,गुरु दास सिरोमनी जी मै भगवान् शिव को अपना गुरु मानता हूँ तो मुझे मन्त्र सिद्ध करने के लिए किसी मानव गुरु की आवश्यकता क्यों होनी चाहिए ?जहां तक मंत्रो के बारे में मेरा ज्ञान कहता है कि मंत्रो को गोपनीय रखना चाहिए तो जब इन बातों का पालन आज कोई नहीं करता तो फिर ये गुरु वाली शर्त मेरी समझ से परे हैं , मैं भी महाकाल भैरव का साधक हूँ और शिव जी की कृपा से अनेक सिद्धियों का साधक भी हूँ .इसलिए भौतिक गुरु से ज्यादा ऊंचा आध्यात्मिक गुरु होता है .
    मैंने बहुत से तंत्र ब्लॉग में पढ़ा है की इस मन्त्र के जप से अमुक कार्य संपन्न हो जाएगा, लेकिन मन्त्र जप विधि ,प्रयोग विधि एवं साधना में काम आने वाली वस्तुओं का कोई उदाहरण नहीं होता , तो फिर नव साधकों को मन्त्र या साधना की आधी अधूरी जानकारी क्यों ? इस तरह तो नव साधक मंत्रो का समुचित ज्ञान कभी हासिल ही नहीं कर पायेंगे ..इसलिए गुरु जी आप से करबद्ध निवेदन है की मंत्रो का समुचित ज्ञान ,सिद्ध करने की विधि एवं प्रयोग विधि के बारे में आप विस्तार से बताएं अन्यथा इस तरह मंत्रो को सार्वजनिक कर मंत्रो का अपमान न करें .. गुरु जी अगर कुछ गलत कहा हो तो क्षमा चाहता हूँ क्योंकि मेरा मकसद आपको गलत साबित करना नहीं है .............

    ReplyDelete
    Replies
    1. bhale aapne shivji ko guru banya ho lekin siddhi ko pane ke liye kisi tantra vishegya ya jiske pass tantra siddhi hai vahi aapko sidhhi puri karvayega. aur jinse aap sadhna ki vidhi ke bare me jaana chate hai yadi vo bhi aapko vidhi bata dega to bhi aapko sidhi prapt nahi hogi kyoki vo kuch paise lekar sadhna vidhi bta jarur dega lekin uska aashirvad aapke saath nahi raghega

      Delete
  5. Informative Post!!!
    For the problems in the love life or the Love Problem Solution, baba can give it to you and solves ll the problem completely. Thanks for sharing.

    ReplyDelete
  6. The astrology solutions is the most chosen way out of others to solve all the problems. This have great power and give solutions to any kind of problem. Thanks for this sharing.

    ReplyDelete
  7. guru ji jawab nahi diya apne

    ReplyDelete
  8. mene apse swal pucha tha ki mere uper devi devta ka ashrivad hain main sadhak banu ya nahi

    ReplyDelete
  9. mere uper devi devta ka ashrivad hain main sadhak banu ya nahi

    Reply

    ReplyDelete